Breaking News

मांस-मदिरा से क़ोरोना फ़ैल रहा है उसे बंद कराए सरकार

– मांस-मदिरा से क़ोरोना फ़ैल रहा है उसे बंद कराए सरकारआचार्य श्री विद्या सागर महाराज के प्रवचन, नेमावर से इंदौर तक की चित्रमय पुस्तक का विमोचन

इंदौर। मांस-मदिरा से दुनिया के बाद अब देश में क़ोरोना वायरस फ़ेल रहा है। सरकार इन दुकानों को बंद कराए। प्रकृति से विपरीत हम भोजन करते है तो वो अपराध होता है। उसका हर्जाना देश ही नहीं पूरे विश्व को भोगना पड़ता है। हमारी भूल, गलती सबके लिए मुसीबत बन जाती है। इस बात को शासन के सामने रखना चाहिए।

तीर्थोंदय धाम पर आचार्यश्री विद्यासागर महाराज ने अपने प्रवचन में उक्त बातें कहीं। उन्होंने कहा कि कुछ साल पहले एक महामारी फैली थी जो की मुगऱ्े को दाना खिलाकर बच्चे पैदा करने से हुई थी, जो की प्रकृति के विपरीत काम था। उसके सेवन से मनुष्य मरने लगे थे। मांस-मदिरा से क़ोरोना फैल रहा है, उसके लिए रोक होना चाहिए। विज्ञान ने भी इस बात को स्वीकार किया है। हमने सुना था की विदेश में गाय पागल हुई। क्यू ऐसा कहा जाने लगा, शोध हुआ की उसको भी मांस खिलाया गया। इसी से गाय पागल होने लगी। मांस को कृषि व्यापार मानना अपराध है। मैं आपसे कहता हु शराब ना पिए और मांस से दूर रहो। इसके साथ ही उसे अब व्यापार का रूप देना बंद किया जाए। मांस के व्यापार और उत्पादन से कोई देश तरक्की नहीं कर पाया है। भारत का इतिहास है, विदेश में जो लोग भारतीय वस्तु नहीं खऱीदता था, वो खुद को अपमानित समझता था। आज आप लोग विदेशी सामग्री खऱीदने में लगे है, जो की ग़लत हो रहा है।ऋषियों के उपदेश लाभदायक आचार्य श्री ने प्रवचन में कहा की चिंतन हम करते है ,ऋ षियों का जो उपदेश है वो लाभ दायक है। शारीरिक और अध्यात्म के लिए भी। आत्मा को जानना स्वभाव है। स्वभाव से सुख और विभाव से दु:ख होता है। आप सुख से जीना चाहते हो तो सही जीवन जीयो। हीरा को देखेंगे तो प्रज्ञा शुरू हो जाता है। हीरे को देखते ही हर किसी के कदम उसकी और बड़ जाते है। एक बार डाक्टर समूह को कहा प्रज्ञा अपराध से बचना चाहिए। उन्होंने पूछा ये कैसा अपराध क्या होता है। प्रज्ञा अपराध है जो प्राकृतिक नियम के विपरीत जाकर काम करना। आपके मन में चिकित्सा की अपेक्षा के साथ अर्थ धर्म ही रखेंगे। इससे चिकित्सा नियमावली से हम दूर हो जाते है, हमें बचना चाहिए।चित्रमय पुस्तक का विमोचन आचार्य श्री को इंदौर में लगभग 3 महीने का प्रवास हो चूका है। इस दौरान आचार्य श्री के चित्रमय झलकियों के साथ उसकी पुस्तक का निर्माण किया गया है। आज उस पुस्तक का विमोचन दयोदय चेरिटेबल ट्रस्ट द्वारा किया गया। पुस्तक का निर्माण करने वाले परिवार का सम्मान किया गया। आज आहार का सौभाग्य विपुल बांझल परिवार को मिला। संचालन ब्रह्मचारी नितिन भैया और आभार भरतेश बडकुल ने माना।

Check Also

जनता कर्फ्यू के समर्थन में भाजपा ने विभिन्न व्यापारिक एसोसिएशनों से प्रतिष्ठान बंद रखने का किया आग्रह

इंदौर > नगर अध्यक्ष गोपीकृष्ण नेमा एवं  व्यापारी प्रकोष्ठ प्रदेश सह संयोजक रमेश गोदवानी ने …

भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठ द्वारा एम.वाय. हॉस्पिटल में मरीजों के परिजनों को निशुल्क मास्क का वितरण

इंदौर/भाजपा व्यापारी प्रकोष्ठ के नगर संयोजक  निर्मल वर्मा ने बताया कि वर्तमान में पूरा विश्व …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *