स्मृति इरानी ने राहुल गाँधी को हरा दिया

गांधी परिवार का महत्वपूर्ण किला अमेठी “मोदी लहर” में धराशायी हुआ। इस बार के चुनाव में भारतीय जनता पार्टी की प्रत्याशी स्मृति इरानी ने राहुल गाँधी को हरा दिया । केंद्रीय मंत्री स्मृति इरानी ने 2014 के लोकसभा चुनाव में हार मिलने के बावजूद 2019 में एक बार फिर राहुल गांधी को चुनौती देने का फैसला किया और गांधी परिवार के गढ़ को जीत लिया। स्मृति इरानी ने 55,120 वोटों से करारी शिकस्त दी है कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को। साथ ही एक कीर्तिमान भी उनके नाम हो गया जिसमें कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष को हराने वाली वह पहली बीजेपी प्रत्याशी बन गयी हैं।


उत्तर प्रदेश की अमेठी सीट, लोकसभा चुनाव २०१९ में सबसे ज्यादा चर्चा की सीट रही । अमेठी से कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी उम्मीदवार थे । गाँधी परिवार से संजय गांधी के बाद राहुल को अमेठी की जनता ने नकार दिया है।

स्मृति ईरानी को मिली ये जीत आसान नहीं थी। इसके लिए स्मृति ने काफी मेहनत की है।
२०१४ में हारने के बाद स्मृति लगातार अमेठी आती रही और अमेठी की जनता से मिलने और उनकी समस्याओं को जानना और बात करने का सिलसिला प्रत्येक बार अमेठी आने पर जारी रखा
। अमेठी की जनता के इस जुड़ाव के कारण उन्हें आज जनता का प्यार, जीत के रूप में मिला है।

Check Also

नहीं बच सकेगी तुलसी सिलावट की कुर्सी

THE SPECIAL NEWS .COM बिना चुनाव लड़े 6 माह ही रह सकते हैं मंत्री इंदौर …

सरकार का नया आदेश- अफसर निरीक्षण भी नहीं कर सकेंगे पेट्रोल पंप का

@ the special news पेट्रोलियम कंपनी के दबाव में अब इंस्पेक्टर राज को खत्म करने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *