Breaking News

40 साल से बीमार नहीं हुए बाबा रामदेव…यह है उनका राज


जिसकी इम्युनिटी अच्छी उसका कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता

द स्पेशल न्यूज़ // इंदौर ब्यूरो//
बाबा रामदेव ने कहा कि जिस व्यक्ति की इम्युनिटी (रोग प्रतिरोधक क्षमता) अच्छी है उसका कोरोना कुछ नहीं बिगाड़ सकता। प्राणायाम एवं आयुर्वेदिक दवाओं के उपयोग से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत अच्छी हो जाती है।

कोरोना के संक्रमण को तोडऩे में अश्वगंधा व गिलोए उपयोगी
बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण को तोडऩे में अश्वगंधा एवं गिलोए अत्यंत कारगर होते हैं। कोरोना मरीजों के उपचार में इनके उपयोग के अच्छे परिणाम सामने आए हैं।


6 प्राणायाम नियमित रूप से करें
बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना से बचाव के लिए 6 प्राणायाम भस्त्रिका, कपालभाति, अनुलोम, विलोम, भ्रामरी एवं उज्जयी प्राणायाम नियमित रूप से करें। कोरोना के मरीज भी ये प्राणायाम कर सकते हैं। प्राणायाम का तुरंत लाभ होता है।


गिलोए, तुलसी, काली मिर्च, हल्दी, अदरक का काढ़ा पिएं
बाबा रामदेव ने बताया कि कोरोना को रोकने के लिए गिलोए, तुलसी, काली मिर्च, हल्दी एवं अदरक का काढ़ा रोज पिएं। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी अच्छी हो जाती है। गिलोए, अश्वगंधा एवं अणुतेल भी काफी उपयोगी हैं।
आरोग्य कसायन-20 से कोरोना मरीजों को लाभ
सचिव आयुष एम.के. अग्रवाल ने बताया कि मध्यप्रदेश में क्वारेंटाइन सेंटर्स में रहने वाले 4 हजार लोगों को तथा कोरोना के 532 मरीजों को आरोग्य कसायन-20 आयुर्वेदिक औषधि दी गई, जिसके काफी अच्छे परिणाम सामने आए हैं। इन मरीजों में से 504 मरीज स्वस्थ होकर घर चले गए हैं। प्रदेश में 7 आयुर्वेद चिकित्सा विशेषज्ञों की टीम निरंतर शोध कर रही है कि कोरोना के विरूद्ध कौन-कौन सी आयुर्वेद की दवाएं अत्यंत उपयोगी हैं। इस संबंध में एक शोध पत्र भी तैयार किया गया है।
40 साल से बीमार नहीं हुआ

योग गुरू रामदेव ने बताया कि वे 40 साल से एक बार भी बीमार नहीं हुए हैं। जब भी थोड़ी अस्वस्थता महसूस होती है वे काढ़े एवं गिलोए का उपयोग करते हैं। साथ ही नियमित रूप से प्राणायाम करते हैं।


योग गुरू रामदेव ने बताया कि वे 40 साल से एक बार भी बीमार नहीं हुए हैं। जब भी थोड़ी अस्वस्थता महसूस होती है वे काढ़े एवं गिलोए का उपयोग करते हैं। साथ ही नियमित रूप से प्राणायाम करते हैं।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों के प्रश्नों के उत्तर दिए
बाबा रामदेव ने वीसी में मध्यप्रदेश के सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारियों से कोरोना के उपचार के विषय में चर्चा की। चिकित्सा अधिकारियों ने बाबा रामदेव को बताया कि वे किस प्रकार उनके जिलों में रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुर्वेदिक दवाओं, प्राणायाम आदि का इस्तेमाल कर रहे हैं। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों द्वारा पूछे गए प्रश्नों के भी समाधानकारक उत्तर दिए।

Check Also

भ्रष्ट नेताओं और अमेरिकी महिलाओं के नाम पर होते हैं तूफानों के नाम

क्या आपके मन में भी आता है सवाल, कैसे रखे जाते हैं समुद्री तूफानों के …

टिक-टॉक के खिलाफ अमेरिका, बच्चों को परोस रहा है एडल्ट सामग्री

14 अमेरिकी सीनेटर ने की है इस पर कार्यवाही करने की मांगहरीश बरोनिया नईदिल्ली ब्यूरो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *