china accepts indians have more abilities

पेइचिंग.

ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक भारत की प्रतिभा को आकर्षित करके हम इनोवेशन की क्षमता को बरकरार रख सकते हैं। अमरीका स्थित सॉफ्टवेयर फर्म सीए टेक्नॉलजीज ने अपनी 300 लोगों की टीम को चीन जाने से रोक दिया था, जबकि भारत में 2,000 टेक्निकल प्रोफेशनल्स की टीम का गठन किया था। ग्लोबल टाइम्स ने यह भी कहा, चीन हाइटेक निवेशकों के प्रति आकर्षण खत्म होने को सहन नहीं कर सकता है।

चीनी मीडिया ने माना है कि भारत की प्रतिभा को नजरअंदाज करना उसकी बड़ी गलती है। यह भी कहा, हमने अपनी निर्भरता अमरीका और यूरोप की प्रतिभा पर कर दी। चीन के सरकारी अखबार ग्लोबल टाइम्स ने एक आर्टिकल में लिखा, कम्युनिस्ट देश (चीन) को भारत के हाइटेक टैलंट को अपनी ओर आकर्षित करना चाहिए ताकि वह नई खोजों के मामले में अपनी क्षमता बरकरार रख सके।
ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, चीन ने भारत के विज्ञान और प्रौद्योगिकी से जुड़ी प्रतिभा को आकर्षित करने के लिए बहुत प्रयास नहीं किए। पिछले कुछ सालों में चीन ने तकनीकी क्षेत्र से जुड़ी जॉब्स का बूम देखा। इसके चलते चीन दुनिया भर के देशों के लिए रिसर्च और डिवेलपमेंट के सेंटर के तौर पर उभरा है। लेकिन अब हाईटेक फर्म्स चीन की बजाय भारत की ओर देखने लगी हैं। इसकी वजह यहां कम कीमत पर श्रम की उपलब्धता है।

Check Also

CBIP Award to PFC

Mosquito can lives in money plant

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *