कोविड-19 संक्रमण: आयुष 64’ दवा आशा की एक किरण

द स्पेशल न्यूज़ //दिल्ली ब्यूरो / हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के रोगियों के लिए ‘आयुष 64’ दवा आशा की एक किरण है। देश के प्रतिष्ठित आयुष अनुसंधान संस्थानों के वैज्ञानिकों ने पाया है कि आयुष मंत्रालय की केंद्रीय आयुर्वेद अनुसंधान परिषद द्वारा विकसित एक पॉली हर्बल फॉर्मूला आयुष 64, लक्षणविहीन, हल्के और मध्यम कोविड-19 संक्रमण के लिए मानक उपचार की सहयोगी के तौर पर लाभकारी है।

गौरतलब है कि आयुष 64 मूल रूप से मलेरिया की दवा के रूप में वर्ष 1980 में विकसित की गई थी तथा कोविड 19 संक्रमण हेतु पुनरुद्देशित की गई है।

Check Also

कई राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों के कारण 24 मई तक पूर्ण लॉकडाउन

द स्पेशल न्यूज़ //दिल्ली ब्यूरो/ कोविड-१९ संक्रमण तेज़ी से फ़ैल रहा है कोविड-१९ संक्रमण। देश …

भारत पूरी दुनिया में सबसे आगे, 17 करोड़ कोविड-19 वैक्सीन की डोज सबसे तेजी से लगाई

द स्पेशल न्यूज़ //दिल्ली ब्यूरो/ देश में कोविड-19 टीकाकरण ने 17 करोड़ का आंकड़ा छू …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *