सुशांत का दिल बेचारा अब सिर्फ फिल्म में

@ the special news

  • अपने अभिनय से आखरी फिल्म में बनाई दिलों में जगह, पूरे विश्व से मिली श्रद्धांजलि

मुंबई ब्यूरो। सुशांत का दिल बेचारा अब भले ही परदे पर अपनी भावनाओं को प्रदर्शित कर रहा है लेकिन जो उनके करीबी थे वे जानते थे कि उनका दिल कितना भावुक और कमजोर था। उनकी मृत्यु को भले ही आत्महत्या या फिर हत्या का नाम दिया जा रहा हो लेकिन उसका दिल बेचारा अब लोगों के दिलों में ही राज करेंगा।

सुशांत सिंह राजपूत अब इस दुनिया में नहीं है लेकिन उनकी आखिरी फिल्म दिल बेचारा शुक्रवार को रिलीज हो गई है। उनके फैन्स को सुशांत की आखरी फिल्म का इंतजार था। बताया जाता है कि फिल्म एक अंग्रेजी नावेल और फिल्म द फाल्ट इन अवर स्टार्स पर आधारित है। फिल्म में संजना सांघी अपनी मां स्वास्तिका मुखर्जी और पिता साश्वता चटर्जी के साथ रहती है। किजी बसु अर्थात संजना सांघी को कैंसर है और वह अपने साथ हमेशा आक्सीजन सिलेंडर लेकर चलती है। उसकी मुलाकात सुशांत सिंह राजपूत से होती है, जो खुद भी एक कैंसर पीडित है। कैंसर के कारण उसका एक पैर भी चला गया। संजना की जिंदगी में सुशांत खुशियां लेकर आता है। संजना अर्थात किजी के प्रिय सिंगर से मिलाने के लिए सुशांत उसे पेरिस लेकर जाता है। सुशांत यानी मैनी और संजना यानी किजी की प्रेम कथा पर आधारित यह फिल्म है।

Check Also

गुजराती संस्कृति की झलक – रण उत्सव 2021

कच्छ नहीं देखा तो क्या देखा

अनादिकाल से राष्ट्र निर्माण में संतो की भूमिका

रविवार को दत्त जयंती उत्सव में श्रीमती कल्पना झोकरकर का गायन इंदौर।संत अर्थात वह जो …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *